1

बीते दिनों उत्तर प्रदेश के आगरा में धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए भगवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कुछ पादरियों के साथ जमकर मारपीट की। इस मामले में अब पुलिस ने शनिवार को वीएचपी और बजरंग दल के दो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। हालांकि कुछ घंटे बाद ही दोनों को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया।

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को आगरा के फतेहाबाद रोड स्थित होटल समोवर के बेसमेंट में ईसाई धर्म प्रचारकों की सभा चल रही थी। यहां धर्मांतरण का आरोप लगाकर बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पात मचाया।

Loading...

पादरी रवि कुमार ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि मंगलवार को आगरा के एक होटल में आयोजित मीटिंग में 20 से 25 लोग ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए घुस आए। शिकायत के मुताबिक, इन लोगों ने पादरियों को हॉकी से पीटा। इसके अलावा, मीटिंग में शामिल महिलाओं के कपड़े फाड़ डाले और उन्हें बालों से पकड़कर घसीटा।

जानकारी के अनुसार इस मामले में ईसाई मिशनरी के लोगों ने अपनी शिकायत देश के गृह और विदेश विभाग से की।  विदेश मंत्रालय ने यूपी सरकार से इस मामले में पूरी रिपोर्ट तलब की। शुक्रवार को बीजेपी संगठन की बैठक में भाग लेने आए यूपी के डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा से वीएचपी और बजरंग दल के पदाधिकारियों ने पुलिस कार्रवाई बंद कराने के लिए गुहार लगाई।

हालांकि दिनेश शर्मा ने साफ तौर पर उनकी मदद करने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा, ‘बात विदेश मंत्रालय तक जा पहुंची है। आप लोग बड़ी बदनामी करा रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि इस मामले में वह अब कुछ नहीं कर सकते, अब रिपोर्ट में नामजद लोगों को पुलिस या कोर्ट के सामने सरेंडर कर जमानत कराने की कानूनी प्रक्रिया अपनानी चाहिए।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें