electon

मध्य प्रदेश में फर्जी वोटर मामले मे घमासान मचा हुआ है। काँग्रेस का दावा है कि प्रदेश में करीब 60 लाख वोटर फर्जी हैं। हालांकि चुनाव आयोग इस दावे को खारिज कर चुका है। लेकिन अब कांग्रेस द्वारा चार विधानसभा क्षेत्रों में डूर-टू-डूर जांच की गई तो दो हजार फर्जी वोटर पाए गए।

कांग्रेस ने चार विधानसभा क्षेत्रों नरेला, भोजपुर, होशंगाबाद और सिवनी मालवा में करीब एक लाख फर्जी मतदाता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद राज्य चुनाव आयोग ने डूर-टू-डूर करवाई में दो हजार मतदाता फर्जी निकले हैं।

चुनाव आयुक्त ने नरेला, भोजपुर, होशंगाबाद और सिवनी मालवा विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस की शिकायत की डूर-टू-डूर जांच करवाई। इस जांच में दो हजार फर्जी वोटर पाए गए हैं। इन नामों को मतदाता सूची से काटे जाने के निर्देश दे दिए गए हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ द्वारा तीन जून को की गई शिकायत में गड़बड़ी वाले विधानसभा क्षेत्रों नरेला, होशंगाबाद, भोजपुर और सिओनी मालवा में मतदाता सूचियों की विस्तृत जांच कराने की मांग की गई थी।

उन्होने वोटर लिस्ट के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए दावा किया था कि प्रदेश में करीब 60 लाख वोटर फर्जी हैं। पार्टी का दावा था कि मध्यप्रदेश में 24 प्रतिशत आबादी बढ़ी है, लेकिन वोटरों की संख्या में 40 प्रतिशत बढ़ोत्तरी हुई है।

Loading...