Thursday, January 20, 2022

असम में CAB का विरोध: दो रेलवे स्टेशन को फूंका, ट्रेन पर आग लगाने पर उतारू थी भीड़….

- Advertisement -

नागरिकता संशोधन बिल का उत्तर पूर्वी राज्यों में विरोध -प्रदर्शन उग्र हो चुका है। गुरूवार को हुई हिंसा में असम में दो प्रदर्शनकारियों की मौ’त भी हो चुकी है। वहीं उग्र भीड़ ने दो रेलवे स्टेशनों में आग लगा दी। इसके साथ ही सरकारी दफ्तर, दो भाजपा विधायकों के घर भी तोड़फोड़ और आगजनी की घटना हुई है।

इतना ही नहीं सेना ने कहा कि उसने नहारकाटिया रेलवे स्टेशन पर एक एक्सप्रेस ट्रेन के यात्रियों को भीड़ से बचाया जो रेल के डिब्बों को आग लगाने पर उतारू थे। सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि भीड़ ने नहारकाटिया में सिलचर-डिब्रुगढ ब्रह्मपुत्र एक्सप्रेस को घेर लिया और वे उसमें आग लगाने ही वाले थे कि सुरक्षा बल वहां पहुंच गये।

उन्होंने बताया कि रेलवे अधिकारियों ने यात्रियों को बचाने के लिए तत्काल मदद का अनुरोध किया था। उन्होंने बताया कि तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए सेना और असम राइफल्स की टुकड़ियां मौके पर पहुंच गईं। उन्होंने तुरंत मौके से भीड़ को खदेड़ दिया।

अधिकारियों ने बताया कि तेजपुर तथा ढेकियाजुली शहरों में भी अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने बताया कि जोरहाट, गोलाघाट, तिनसुकिया और चराईदेव जिलों में रात का कर्फ्यू लगाया गया है। गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों की गुरुवार को मौत हो गयी।

बुधवार को राज्य सरकार ने गुवाहटी पुलिस कमिश्नर समेत कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का तबादला भी कर दिया। वहीं गुरूवार को देर रात केन्द्रीय कानून मंत्री ने एक आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागरिकता संशोधन बिल को अपनी मंजूरी दे दी है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles