lki

गुवाहटी। असम के कार्बी आंगलॉन्ग जिले में बच्चा चोरी का इल्जाम लगा कर भीड़ ने दो पर्यटकों की जान पीट-पीट कर हत्या कर दी। मृतकों की पहचान नीलोत्पल और अभिजीत के रूप मे हुई।

जानकारी के अनुसार, सोशल मीडिया पर फैलाई गई थी कि सोपाधारा (बच्चों का अपहरण करने वाला एक समूह) का एक समूह नागालैंड के दीमापुर और उसके आस-पास के क्षेत्रों में छिपा हुआ है।

जिसके बाद शुक्रवार रात को भीड़ ने एक कार से दो लोगों को पकड़ लिया और पीट-पीटकर मारा डाला। हमलावरों ने युवकों की पिटाई का बर्बरता पूर्ण वीडियो भी रिकॉर्ड कर लिया।  इस वीडियो को सोशल मीडिया पर भी अपलोड कर दिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

up police inhuman face disclose

घटना के बारे में सीएम सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि मैने डीजीपी को आदेश दे दिया है कि वो घटना में शामिल अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी सुनिश्चित करें। बता दें कि गुवाहाटी के रहने वाले नीलोत्पल दास एक स्कॉर्पियो कार से अपने दोस्त अभिजीत नाथ के साथ यहां घूमने आए थे।

वीडियो के अनुसार मृतकों में से एक नीलोत्पल दास हाथ जोड़कर हमलावरों के सामने गिड़गिड़ा रहा है कि वो असमी है और गुवाहटी का रहने वाला है। नीलोत्पल ने कई बार दोहराया कि मुझे मत मारो… मुझे मत पीटो… मैं असमी हूं, मेरा विश्वास करो, मैं सच बोल रहा हूं. मेरे पिता का नाम गोपाल चंद्र दास और मां का नाम राधिका दास है।  कृप्या मुझे जाने दो।

वीडियो में साफ दिख रहा है कि भीड़ नीलोत्पल के गिड़गिड़ाने के बावजूद उसे और उसके दोस्त अभिजीत नाथ को बांस और लातों से पिटती रही। बताया जा रहा है कि दोनों में से एक बिजनेसमैन था और एक साउंड रिकॉडिस्ट के तौर पर काम करता था।

Loading...