मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बाद अब महाराष्ट्र से भी टेलीफोन एक्सचेंज के जरिए सैन्य जानकारियां हासिल कर पाकिस्तान को देने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

महाराष्ट्र एटीएस, लातूर पुलिस और टेलीकम्यूनिकेशन विभाग की सयुंक्त कारवाई में लातूर से शंकर बिरादर (33 साल) और रवि सब्दे (27 साल) को गिरफ्तार किया गया. ये कारवाई जम्मू कश्मीर मिलिट्री इंटेलिजेंस यूनिट से इंटेलिजेंस इनपुट मिलने के बाद की गई.

इस दौरान इन लोगों के पास से 96 सिम, एक कंप्यूटर, एक सीपीयू और कॉल ट्रांसफॉर्म करने वाली तीन मशीनें बरामद की गई. पुलिस ने बताया कि आरोपी शंकर प्रकाश नगर स्थित अपने घर से गैरकानूनी टेलीकम्यूनिकेशन जंक्शन चलाता था जबकि रवि चाकुर तालुका के किराए वाले कमरे से इसे चलाता था.

टेलीकम्यूनिकेशन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इन अवैध एक्सचेंज से देश को 15 करोड़ रूपये के राजस्व का नुकसान हुआ है. जिले के शिवाजी नगर और एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में संबंधित धाराओं के तहत अपराध दर्ज कराया गया है.

एटीएस के मुताबिक, आरोपी यहां अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चला रहे थे, जहां लोकल मोबाइल नंबरों के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय वीओआईपी कॉल्स को कराया जाता था. एटीएस ने कहा, ‘यह पता चला है कि इस तरह के अवैध वीओआइपी एक्सचेंजों का इस्तेमाल पड़ोसी देश की गुप्तचर एजेंसी ने संवेदनशील सैन्य सूचना प्राप्त करने के लिए किया जा रहा था.’

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें