खुफिया जानकारियां पाकिस्तान को भेजने के मामले में छतरपुर से गिरफ्तार संयोग उर्फ गोविंद सिंह और दिल्ली से अब्दुल जब्बार को गिरफ्तार  किया गया हैं. इन दोनों को रविवार को अदालत ने 23 फरवरी तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया.

संयोग सिंह पिता उदयभान सिंह उम्र 23 साल को छतरपुर में चौबे कॉलोनी, गिरी जी की बगिया के पास मकान नंबर 31 का निवासी है जबकि अब्दुल जब्बार पिता अब्दुल हबीब 39-9 जगत सिनेमा के पास उर्दू बाजार जामा मस्जिद दिल्ली में रहता है. आरोपियों को न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी कु. कमला अहिरवार की अदालत में शाम 4.22 बजे पेश किया गया.

एटीएस ने अपने पुलिस रिमांड आवेदन में कहा कि जब्बार और संयोग से पैसों की बरामदगी और इनके नेटवर्क की जानकारी निकालनी है. इसके अलावा इनसे बैंकों की पासबुक और एटीएम कार्ड्स बरामद करने हैं. अदालत ने दोनों आरोपियों को 23 फरवरी तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संयोग और जब्बार को मिलाकर एटीएस अब तक 14 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है. संयोग बलराम का रिश्तेदार है. दिल्ली में रहकर वह चार मुख्य बैंक खाते ऑपरेट कर रहा था. प्रदेशभर में खुले बैंक खातों में रकम जमा करवाने का काम बलराम का था. इनसे रकम निकालकर बलराम चार बैंक खातों में जमा करवाता था। इन खातों से रकम निकालकर संयोग ही जब्बार तक पहुंचाता था.

जब्बार आईएसआई के लिए काम करने वालों तक पैसे पहुंचाता था. वह फायनेंस की आड़ में हवाला का काम भी देखता था. संयोग और जब्बार के नाम एटीएस को बलराम व राजीव ने बताए हैं.

Loading...