बीफ ले जाने का आरोप लगाकर झारखंड के मनुवा में भगवा कार्यकर्ताओं द्वारा की गई मो. अलीमुद्दीन अंसारी की पीट-पीट कर हत्या करने के मामले में दो और मुख्य आरोपियों ने आज रामगढ़ अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया. हालांकि इससे पहले दो लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. जिनका सबंध बीजेपी और विहिप से है.

पुलिस ने अलीमुद्दीन की पत्नी मरियम खातून की शिकायत पर 12 लोगों को नामजद आरोपी बनाया है. इससे पहले मुख्य आरोपियों में से एक छोटू राणा ने भी अदालत में आत्मसमर्पण किया था. रामगढ़ उपायुक्त राजेरी बी और एसपी किशोर कौशल ने  बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले दोनों ही मुख्य आरोपी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल, जिला प्रशासन ने दीपक मिश्रा और छोटू वर्मा की संपति कुर्क करने की योजना बनाई थी जिसके बाद दोनों ने आज आत्मसमर्पण कर दिया. एसपी ने बताया कि अब तक सात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जबकि तीन ने अदालत में आत्मसमर्पण किया है.

गौरतलब रहे कि भाजपा  नेता नित्यानंद महतो सहित बिजू गोयनका, दीपक मिश्रा, छोटू वर्मा, पप्पू यादव, सुजीत सोनकर, मोजन ठाकुर, नागेंद्र मुंडा, नित्यानंद महतो, छोटू राणा, संतोष सिंह, विजय कुमार सिंह टुंडा, आलोक बेरलिया के खिलाफ अलीमुद्दीन की पत्नी मरियम खातून नामजद रिपोर्ट की थी.