Tuesday, June 28, 2022

जुड़वां भाइयों को अगवा कर की ह*त्या, बजरंग दल के नेता के भाई सहित 6 गिरफ्तार

- Advertisement -

भोपाल: मध्य प्रदेश में सतना जिले के चित्रकूट से 12 दिन पहले स्कूल बस से अपहृत किए गए छह वर्षीय जुड़वां भाइयों की हत्या कर दी गई है. पुलिस के अनुसार दोनों बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में यमुना नदी से मिले हैं. पुलिस ने इस मामले में अभी तक इंजीनियरिंग के दो छात्रों के सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए 2 इंजीनियरिंग छात्रों में से एक इंजीनियरिंग छात्र बजरंग दल के क्षेत्रीय नेता का भाई है.

इंस्पेक्टर जनरल (रीवा क्षेत्र) चंचल शेखर ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि पदमा का छोटा भाई विष्णुकांत उर्फ छोटू बजरंग दल का क्षेत्रीय संयोजक है. उन्होंने बताया कि पुलिस को विष्णुकांत के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं. चंचल शेखर ने कहा कि पुलिस ने रंगदारी की रकम (20 लाख रुपए) भी बरामद कर लिया है और साथ ही साथ अपराध में इस्तेमाल की गई गाड़ी भी पुलिस ने बरामद कर लिया है.

पुलिस ने जो मोटरसाइकिलें बरामद की हैं उनमें से दो मोटरसाइकिलों पर ‘राम राज्य’ लिखा हुआ है. पुलिस ने बताया है कि अपहरणकर्ताओं ने इन बच्चों को रिहा करने के एवज में 2 करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी थी. बच्चों के परिवार वालों ने 20 फरवरी को 20 लाख रुपए किडनैपर्स को दिया भी था. किडनैपर्स अलग-अलग लोगों के फोन का इस्तेमाल रंगदारी मांगने के लिए कर रहे थे.

धार्मिक नगरी चित्रकूट के प्रसिद्ध सदगुरु पब्लिक स्कूल में यू.के.जी में पढ़ने वाले इन दोनों भाइयों का अपहरण मोटरसाइकिल सवार दो लोगों ने 12 फरवरी को उस वक्त स्कूल परिसर से ही कर लिया था, जब वे स्कूल की छुट्टी होने के बाद अपने घर वापस आने के लिए अन्य बच्चों के साथ स्कूल बस में बैठे हुए थे. इस बीच बच्चों के शव मिलने के बाद आक्रोशित लोगों ने सतना जिले के चित्रकूट में प्रदर्शन शुरू कर दिया है, जिसके बाद वहां अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

इधर इस मामले पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि उन्होंने जुड़वां भाइयों के पिता से बातचीत की है और इस हत्याकांड के पीछे छिपे अपराधी जरुर बेनकाब किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि ‘मैंने पीड़ित के पिता से बातचीत की है. इसके पीछे की राजनीति भी जरुर बेनकाब होगी. जिनका झंडा गाड़ी के पीछे लगा था. पुलिस इन सभी चीजों से पर्दा उठाएगी. विपक्ष इसलिए घबराया हुआ है क्योंकि उनके लोग इसमें शामिल हैं.’

मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा भाेपाल में कहा कि बच्चों की तलाश में उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश पुलिस का संयुक्त अभियान चल रहा था. अपराध उत्तरप्रदेश में हुआ है. यह वहां की भाजपा सरकार की नाकामी है. छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं. मामला फास्टट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा. उत्तरप्रदेश सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए.

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles