Saturday, November 27, 2021

देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

- Advertisement -

राजस्थान के झुंझनूं जिले के नुआ गांव में 1965 में भारत-पाक युद्ध के हीरो रहे कैप्टन अय्यूब खान को श्रद्धांजलि देने पहुंचे राष्ट्रपति महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार के. गांधी ने देश के वर्तमान हालात पर चिंता जाहिर की.

उन्होंने कहा कि देशभक्ति के झूठे प्रमाणपत्र बांटे जा रहे हैं. देशभक्ति की व्याख्या को बदलने की कोशिश की जा रही है. यह देश के लिए काफी बड़ा खतरा है. इस दौरान उन्होंने गौआतंकियों के हाथों मारे गए हरियाणा के पहलू खां को भी याद किया.

गांधी ने कहा, देश का कानून यह नहीं कहता कि आप स्वयं किसी व्यक्ति को सजा दे. पहलू खां की पीट पीट कर हत्या कर दी गई. . हमारे देश में कानून है, किसी को सजा कानून देता है. देश में अराजकता का माहौल चल रहा है. सत्ता के खिलाफ बोलने वाले की आवाज दबा दी जाती है.

उन्होंने कहा, ऐसे में लोगों से मुल्क की कानून व्यवस्था से विश्वास उठता जाएगा. ऐसे में देश पर खतरा सीमाओं से नहीं आए, यह खतरा देश के अंदर से ही आएगा. उन्होंने कहा, देश भक्त कहने से नहीं, देश भक्ति तब साबित होती है जब आप अपने जीवन के चंद दिनों में से या फिर अपने जीवन की कुर्बानी देकर इस देश की सेवा करें.

गांधी ने कहा कि देश की आजादी अकेले बापू की वजह से नहीं, उनके दिखाए रास्ते पर आम नागरिकों के चलने से मिली. उनके नेतृत्व में शांति अहिंसा की राह पर चल कर आजादी दिलाई. उन्होंने कहा, जो अपने समाज, वतन पर कुछ असर छोड़ जाएगा वही सच्चा देश भक्त कहलाएगा.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles