cpm

cpmत्रिपुरा में 25 सालों तक राज के बाद मिली हार के बाद सीपीएम को अब हिंसा का सामना करना पड़ रहा है. कथित तौर पर बीजेपी ने सीपीएम दफ्तरों पर हमले किये और उनमे आगजनी की.

सीपीएम की ओर से कहा गया है कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पीटा जा रहा है, साथ ही उनके दफ्तर भी जाए गए हैं. सीपीएम ने कहा है कि राज्यभर में ऐसी 200 घटनाएं अब तक हो चुकी हैं, इन सभी घटनाओं का उन्होंने जिम्मेदार बीजेपी  को बताया है.

त्रिपुरा सीपीएम स्टेट सेक्रेटरी बिजन धर ने आरोप लगाया कि हिंसा की घटनाओं को रोकने और बीजेपी वर्कर पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. वहीँ सांसद जितेंद्र उपाध्याय ने कहा कि बीजेपी ने बंगालियों और आदिवासियों के बीच दूरियां पैदा करके अपना वोटबैंक हासिल किया है.

बता दें कि  राज्य की 60 में से 59 सीटों पर हुए चुनाव में सभी सीटों के नतीजे घोषित किए जाने के बाद बीजेपी ने 35 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं, सीपीएम को 16 सीटों पर जीत हासिल हुई.

इसी बीच मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने विधान सभा चुनाव में करारी हार मिलने के बाद पद से इस्तीफा दे दिया है. माणिक सरकार साल 1998 से ही राज्य के सीएम थे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?