untit7 1527416680

भाजपा शासित मध्‍य प्रदेश में साल के अंत में चुनाव होने है. ऐसे में हिंदूवादी संगठनों ने धुर्विकरण के लिए अपने सांप्रदायिक पैतरों को आजमाना शुरू कर दिया है. इस की शुरूआत राजगढ़ से हो गई है. राजगढ़ में लव जिहाद के नाम पर विशेष समुदाय के खिलाफ हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी जा रही है.

समाचार एजेंसी ‘एएनआई’ के अनुसार, बजरंग दल द्वारा राजगढ़ में हथियार प्रशिक्षण शिविर लगाया गया. जिसमे सरेआम एक समुदाय विशेष के खिलाफ ये ट्रेनिंग दी जा रही. जिस पर प्रशासन ने भी चुप्पी साध रखी है.

इस मामले में राजगढ़ की पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने रविवार को एक चर्चा के दौरान कहा, “उन्हें जानकारी मिली है कि आत्म रक्षार्थ बजरंग दल द्वारा कोई प्रशिक्षण दिया जा रहा है, इसमें अगर लाइसेंसी हथियार हैं तो उसमें कानून का कोई उल्लंघन नहीं लगता. उनसे इस तरह के शिविर को लेकर कोई अनुमति नहीं ली गई है. वास्तविक स्थिति का पता कराया जा रहा हैं.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हिंदूवादी संगठन के जिला संयोजक देवी सिंह सोंढिया ने शिविर आयोजित करने के उद्देश्‍यों के बारे में जानकारी दी. उन्‍होंने कहा, ‘यह एक नियमित प्रशिक्षण शिविर है. हमलोग राष्‍ट्रविरोधी ताकतों और लव जिहाद करने वाले तत्‍वों से निपटने के लिए हर साल इस तरह का शिविर लगाते हैं.’

बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब बजरंग दल अपने कार्यकर्ताओं को हिंदुओं की रक्षा के नाम पर हथियार चलाने की ट्रेनिंग दे रहा हो. 2016 में भी बजरंग दल ने अयोध्या में एक ट्रेनिंग कैंप का आयोजन किया था, जिसमें कार्यकर्ताओं को राइफल, तलवार और लाठियां चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी.

Loading...