Sunday, August 1, 2021

 

 

 

कश्मीरी छात्रों को कहा – आतंकवादी, धारा – 370 को लेकर भी किया…..

- Advertisement -
- Advertisement -

चित्तौड़गढ़ स्थित मेवाड़ विश्वविद्यालय में शुक्रवार रात कश्मीरी और बिहारी छात्रों के के बीच हुई मारपीट में 4 कश्मीरी छात्र घायल हो गए। इस दौरान राजस्थान की पुलिस ने जम्मू-कश्मीर के तमाम छात्रों को सुरक्षा मुहैया कराई है।

इनमें से एक, कश्मीर के हंदवाड़ा के रहने वाले ताहिर मजीद को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। इसके अलावा बिलाल अहमद, इश्फाक अहमद कुरैशी और मोहम्मद अली को हमले में छोटी चोटें आईं हैं। वहीं ताहिर माजिद गंभीर तौर पर घायल हैं।

मारपीट के बाद पुलिस ने बिहार के चार छात्रों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 323, 341 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। साथ ही थानाधिकारी लादूराम विश्नोई को तत्काल प्रभाव से लाइन में उपस्थित होने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

कश्मीरी छात्रों का आरोप है कि झड़प के दौरान बिहार के छात्रों ने अनुच्छेद 370 को लेकर ताने मारे और उन्हे “आतंकवादी” कहा। हमले में घायल हुए एक 22 वर्षीय कश्मीरी छात्र ने कहा, “बिहार के 70 से अधिक छात्रों के एक समूह ने हमें चारों ओर से घेर लिया, क्योंकि हम शुक्रवार रात खाने पर जा रहे थे और हमारे साथ मारपीट शुरू कर दी। इसमें सांप्रदायिक वजह नहीं थी। क्योंकि, दूसरी तरफ भी कई छात्र मुस्लिम थे।

लेकिन, इस दौरान वे ताने मारने लगे कि अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद अब कश्मीरी कहां जाएंगे। उनमें से कुछ ने तो हमें आतंकवादी कहा। उन्होंने अचानक ही हमें राज्य के आधार पर बांटने लगे और जम्मू-कश्मीर के छात्रों के समूह पर हमला बोल दिया। इस दौरान जम्मू के कुछ हिंदू छात्र भी निशाना बने।

मेवाड़ यूनिवर्सिटी में कश्मीर के रहने वाले करीब 30 छात्र पढ़ते हैं. पहले भी कई बार इन पर हमले की खबर सामने आई हैं। आर्टिकल 370 हटने के बाद राजस्थान में कश्मीरी छात्रों पर हमले की यह दूसरी घटना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles