राजस्थान के भीलवाड़ा में एक महिला ने शौचालय न होने पर अदालत में तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर ‘टॉयलेट एक प्रेमकथा’ को जीवंत रूप दे दिया है. अदालत ने महिला की अर्जी को मंजूर भी कर लिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, दरअसल महिला के ससुराल में शोचालय नहीं था. शोचालय निर्माण के लिए महिला ने कई मिन्नतें भी की लेकिन परिवार वालों ने नहीं सुनी. आखिर में महिला ने शौचालय के लिए तलाक लेने का फैसला किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, महिला ने पहले ही कोर्ट में तलाक की अपील की थी जिसके बाद न्यायाधीश ने इसे क्रूरता का मामला बताते हुए अपील स्वीकार कर ली.महिला के वकील राजेश ने खबर की पुष्टि की है.

महिला ने बताया, ‘मैं परिवार (ससुराल) से अपील करती रही कि घर में टॉइलट हो, लेकिन उन्होंने मेरी कभी नहीं सुनी और मुजे मारा.’

यह पूरी घटना अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेमकथा’ को सजीव रूप देती है. अब देखना होगा आगे क्या होता है ?

Loading...