sdpi1

बाराॅ, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आॅफ इण्डिया ने मंगलवार को देशभर में बाबरी मस्जिद पुनर्निर्माण व लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की मांग को लेकर विरोध व धरना प्रदर्षन किये। इसी कडी में एसडीपीआई बारां की ओर से जिला कमेटी ने अन्जुमन चैराहे पर सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक धरना प्रदर्षन किया गया। इस मौके पर एनसीएचआरओ के स्टेट जनरल सेक्रेटरी अंसार इन्दोरी,ने कहा कि हिन्दुत्व ताक़तों ने पुरानी मस्जिद को ढहा दिया जो कि बिल्कुल अपराधिक कृत्य था। यहां तक कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया गया और केन्द्रीय व राज्य सरकारें मूक दर्षक बनी रहीं। विध्वंसकारियों ने संविधान को काग़ज़ का मात्र एक टुकड़ा समझकर पूरे देश में हज़ारों निर्दोश लोगों का रक्तपात किया।

धरने को संबोधित करते हुए आॅल इण्डिया इमाम काउन्सिल के वाईस प्रसिडेन्ट हाफिज असरार फलाही ने कहा कि विध्वंस के दोषी आज 24 साल बाद भी आज़ाद घूम रहे हैं। क़ानून के हाथ उन तक पहुंचने में असफल हैं। क्योंकि दोशी आज ख़ुद सत्ता में हैं। विध्वंस की जांच के लिए केन्द्रीय सरकार द्वारा लिब्राहन आयोग को नियुक्त किया गया। आयोग ने 19 साल के लम्बे अरसे के बाद अपनी रिपोर्ट सौंपी। फिर भी किसी सरकार ने लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट पर विचार नहीं किया और क़ानून के पेषे नज़र आयोग द्वारा नामित अपराधियों में से किसी पर भी पुख्ता कानूनी कार्यवाही नहीं की गई।

धरने में एसडीपीआई के जिलाध्यक्ष अब्दुल अजीज अज्जू ने कहा कि आज बाबरी मस्जिद विध्वंस के 24 साल गुज़र चुके हैं। लेकिन आज तक भारतीय मुसलमानों को इंसाफ नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि देश की फासीवादी शक्तियों ने 465 साल पुराने ऐतिहासिक स्मारक बाबरी मस्जिद को ढहा दिया। इसने दुनिया के सामने देश का सिर शर्म से नीचे करने के लिए मजबूर कर दिया था।

sdpi

ज्ञापन में यह रखी मांगे-

धरने के माध्यम एसडीपीआई ने सरकार से मांग की है कि लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट संसद के पटल पर रखी जाए। बाबरी मस्जिद गिराने की राष्ट्र विरोधी अपराधिक गतिविधि के दोशियों को सज़ा दी जाए और इस तरह देश के सेक्युलर, न्यायिक और संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए धर्मनिरपेक्ष लोगों की आस्था के संरक्षण के लिए उसी जगह पर बाबरी मस्जिद का पुनर्निर्माण किया जाए।

शहर में निकाली रैली-

इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने अन्जुमन चोराहे से रैली निकाली। इसमें कार्यकर्ता दो पंक्तियों में नारेबाजी करते हुए हाथों में तख्तियों लेकर चल रहे थे। रैली प्रताप चैक पहुंची, जहां जिला महासचिव अलीम मन्सूरी ने ज्ञापन पढ़ कर सुनाया। इसके बाद प्रतिधिमंडल ने समाज के सभी लोगों के साथ राष्ट्रपति के नाम जिला कलेक्टर के प्रतिनिधिक को ज्ञापन सौंपा। संचालन मोहम्मद कमर अन्सारी ने किया। धरना व प्रदर्शन में जिला कमेटी नगर कमेटी, मांगरोल, सीसवाली और छबडा, अटरू, तहसील समेत जिलेभर से कार्यकर्ता शामिल हुए।

अंता में भी रैली निकालकर दिया ज्ञापन-

जिलाध्यक्ष अब्दुल अजीज ने बताया कि इस दौरान अंता कस्बे में भी एसडीपीआई कार्यकर्ताओं ने बाबरी मस्जिद पुनःनिर्माण की मांग को लेकर भूरा कुआं से उपखंड अधिकारी कार्यालय तक रैली निकाली। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में जिला महासचिव फिरोज भाई, जहूर अहमद, नगर अध्यक्ष मुख्तार आलम, जहूर मास्टर, इकबाल, अलादीन उस्ताद, अशफाक खान, रफीक भाई, सुल्तान खान, सलाम भाई, रईस अहमद, मोहम्मद जाकिर समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता व समाज के लोग शामिल थे।


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें