सांडों की लड़ाई के खेल जलीकट्टू से प्रतिबंध हटाने की मांग को लेकर पुरे तमिलनाडु में बवाल मचा हुआ हैं. जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं. ऑस्कर विजेता संगीतकार एआर रहमान भी जल्लीकट्टू के समर्थन में आ गए हैं. गुरुवार को किए एक ट्वीट में रहमान ने कहा, “तमिलनाडु की भावनाओं के समर्थन में मैं कल उपवास पर रहूंगा.”

रहमान का ट्वीट

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बड़ते विरोध प्रदर्शन के चलते गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाक़ात कर अध्यादेश लाने की मांग की है. प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री से कहा कि जल्लीकट्टू का मामला अदालत में विचाराधीन है हालांकि वह वाषिर्क अनुष्ठान के सांस्कृतिक महत्व को समझते हैं. मोदी ने जल्लीकट्टू मुद्दे पर पनीरसेल्वम से कहा कि केंद्र सरकार राज्य सरकार द्वारा उठाये गये कदमों के प्रति समर्थन का रवैया अपनाएगी. पीएम मोदी ने कहा कि इस सिलसिले में एक केंद्रीय टीम तमिलनाडु भेजी जाएगी.

इसी बीच मद्रास हाई कोर्ट के वकीलों ने घोषणा की है कि वे शुक्रवार को अदालत का बहिष्कार करेंगे. विरोध प्रदर्शन में तमिल फिल्म इंडस्ट्री सहित कई अन्य वर्गों के लोग भी शामिल हो गए हैं. कई ट्रेड यूनियन, टैक्सी और ऑटो रिक्शा यूनियन ने भी शुक्रवार को हड़ताल करने की घोषणा की है.

अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला ने आंदोलन को अपना समर्थन देते हुए कहा कि इस पर प्रतिबंध हटाने के लिये विधानसभा के अगले सत्र में एक प्रस्ताव पारित किया जाएगा. मुख्यमंत्री के साथ अन्नाद्रमुक के 49 सांसद भी होंगे. प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी मिलेगा.

हालांकि मुख्यमंत्री ने सभी प्रदर्शनकारियों से अपना आंदोलन रोकने की भी अपील की है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस मुद्दे पर लोगों के साथ है.

Loading...