उत्तरप्रदेश में योगी सरकार के गठन के साथ प्रदेश के अल्पसंख्यकों को जिस बात का डर था वहीँ सामने आ रहा है. ‘सबका साथ-सबका विकास’ की बात करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शासन में यूपी पुलिस मुस्लिमों को आतंकवादी का ठप्पा लगाकर जेल में सड़ा देने की धमकी दे रही हैं.

मामला जौनपुर के खेतसराय थानाक्षेत्र के यूनुसपुर का है. जहाँ पीड़ित युवक बेदार अहमद को स्थानीय पुलिस स्टेशन के एसओ ने एक केस को रफादफा करने के लिए पहले तो रिश्वत मांगी. जब अहमद ने रिश्वत देने से मना कर दिया तो धमकी दी कि योगी राज में आतंकवादी बताकर जेल में सड़ा देगा.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गांव के युवक जितेंद्र ने अहमद के खिलाफ मछली चोरी की शिकायत की थी जिसके बाद एसओ ने मामला दर्ज किया और उसे दुकान से घसीटते हुए थाने ले गई. इस दौरान ही उसे केस खत्म करने को लेकर रिश्वत मांगी गई. और नहीं देने पर आतंकवादी बताकर जेल भेजने की धमकी दी गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पीड़ित की शिकायत पर एंटी करप्शन ब्यूरो ने संज्ञान लेते हुए जांच शुरू कर दी हैं. एंटी करप्शन ब्यूरो के निदेशक के आदेश पर जौनपुर के एसपी ने जांच एएसपी कमलेश दीक्षित को सौंपी है. खेतासराय एसओ पर आय से अधिक संपत्ति, अपराधियों से सांठगांठ और गरीबों के शोषण का भी आरोप है. ऐसे में एंटी करप्शन ब्यूरो के निदेशक ने शिकायत को गंभीरता से लिया है.

Loading...