siro

देश भर में मुस्लिम समुदाय की महिलाएं सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार द्वारा लाए गए ट्रिपल तलाक बिल का विरोध कर रही है. ऐसे में मध्यप्रदेश के विदिशा जिले के सिरोंज में मुस्लिम महिलाओं ने भी अपना विरोध दर्ज कराया.

सोमवार को हजारों मुस्लिम महिलाएं सिरोंज में तहसील रोड पर जुटी. पहले तहसील रोड पर स्थित मैदान में एक जलसे का आयोजन भी हुआ, जिसमें मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के सदस्य आरिफ मसूद, भोपाल से आई महानाज साहिबा तथा सालिहा रिजवान के साथ ही अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया.

जलसे के बाद चेहरे पर नकाब पहने अनेक महिलाओं ने शरीअत में उल्लेखित तीन तलाक के समर्थन, शरीअत में दखल बर्दाश्त नहीं तथा हमारा हर कदम शरीअत के साथ आदि नारों से लिखी तख्तियां थाम रखी थी और बिल के विरोध में नारेबाजी की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान प्रदर्शन स्थल पर एसडीएम बृजेश शर्मा पहुंचे. बोर्ड ने उन्हें ज्ञापन सौंपा जिसमें एक्ट को महिला विरोधी बताते हुए उसे वापस लेने तथा पुनः विचार करने, संसद के संयुक्त सत्र में मुस्लिम महिलाओं के संबंध में कही गई बातों की निंदा करने आिद की मांग की.

मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि हमारे धर्म मे तीन तलाक का जो नियम है वह सही है। सरकार हमारे धर्म से छेड़छाड़ न करे. मुस्लिम महिलाओं ने ये भी कहा, तीन तलाक के खिलाफ बन रहे कानून को सरकार वापस ले, क्योंकि हमारी शरीयत के हिसाब से तीन तलाक हमारे लिए अच्छा है. यह दो लोगों के अलग होने का आसान तरीका है.