Tuesday, January 25, 2022

CAB के खिलाफ कोलकाता में हजारों मुस्लिम उतरे सड़कों पर, हाथों में थामे रखा तिरंगा

- Advertisement -

कोलकाता: नागरिकता संशोधन कानून पर असम समेत पूर्वोत्तर के कई इलाकों में 5 दिन से हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। गुवाहाटी समेत कई जगह कर्फ्यू भी लगाया गया है। ऐसे में अब ये विरोध बंगाल में भी शुरू हो गया है।

शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय के हजारों लोगों ने सीएबी और प्रस्तावित एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए पश्चिम बंगाल में हावड़ा जिले के उलुबेरिया में राष्ट्रीय राजमार्ग छह को अवरूद्ध कर दिया। इस बीच ममता बनर्जी साफ कर चुकी हैं कि वे पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन विधेयक लागू नहीं होने देंगी। पंजाब और केरल ने भी यही बातें दोहराई हैं। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी ने नागरिकता बिल के खिलाफ कोलकाता में 16 दिसंबर को मेगा रैली भी बुलाई है।

ममता बनर्जी ने गैर-बीजेपी राज्यों पर अपना एजेंडा थोपने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘हम बंगाल में कभी भी एनआरसी और नागरिकता बिल लागू नहीं करेंगे, भले ही इसे संसद में पास कर दिया गया हो।’

राज्य में सिलसिलेवार विरोध प्रदर्शनों की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ये भी कहा कि उन्होंने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से जुड़े समारोह से संबंधित बैठक में शामिल होने के लिए प्रस्तावित दिल्ली यात्रा भी रद्द कर दी है। उन्होंने कहा, ‘नागरिकता कानून भारत को विभाजित करेगा। जब तक हम सत्ता में हैं, राज्य के एक भी व्यक्ति को भी देश नहीं छोड़ने देंगे।’

भारत-जापान ने आपसी बातचीत कर दौरा टाला- रवीश कुमार
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा- मोदी-आबे के बीच द्विपक्षीय वार्ता होनी थी। लेकिन, दोनों देशों ने बातचीत के बाद इसे टाल दिया है। दोनों नेताओं का मणिपुर के बिष्णुपुर में भी एक कार्यक्रम था। यहां दोनों नेताओं को द्वितीय विश्वयुद्ध में जान गंवाने वाले जापानी सैनिकों को श्रद्धांजलि देनी थी। इससे पहले बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन भी अपनी भारत यात्रा रद्द कर चुके हैं।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles