सांकेतिक फोटो
Symbolic

उत्तरप्रदेश में बीजेपी की सरकार के गठन के बाद राज्य का कसाई समुदाय बेरोजगार हो गया हैं. राज्य भर में मीट की दुकानों पर छापेमारी करके सील किया जा रहा हैं. इस बारें में प्रशासन की और से न तो पहले से कोई सुचना दी गई. नहीं कोई नोटिस दिया गया हैं.

सोमवार से बुधवार इन तीन दिनों के बीच उत्तर प्रदेश का कोई ऐसा ज़िला नहीं बचा जहाँ मीट की दुकानों में छापेमारी कर बंद न कराई गई हो. योगी फ़रमान के तहत कई दुकानों और बुचडखानों को सील करने के साथ ही एफआईआर भी दर्ज की गई हैं.

प्रशासन की और से दूकान को दुबारा खोलने के बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी गई. प्रशासन की और से अवैध बुचडखानों पर कारवाई की बात की जा रही हैं. लेकिन स्थिति इसके उलट हैं. इसके अलावा जिन के पास लाइसेंस नहीं है उनके लाइसेंस भी रेन्यु नहीं किये जा रहे.

गाजियाबाद इस्लामनगर के मीट विक्रेता मोहम्मद सलीम और नसीम के मुताबिक़ जब पुलिस और नगर निगम अधिकारियों से इस संबंध में पूछा तो उन्होंने कहा कि जब तक नए लाइसेंस बनाने और पुराने को रेन्यु का नई सरकार की ओर से कोई आदेश नहीं आ जाता है, तब तक आप लोग दुकान नहीं खोलेंगे

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?