bible burned 620x400

bible burned 620x400

देश भर में अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ जारी हिंसा के बीच अब तेलंगाना में ईसाई समुदाय को निशाना बनाया गया है. भगवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने न केवल समुदाय के लोगों से मारपीट की बल्कि उनके धार्मिक ग्रन्थ बाइबिल की प्रतियां भी जला दी.

‘द न्‍यूज मिनट’ के अनुसार, एसोसिएशन ऑफ इंटिग्रेटेड क्रिश्चियन काउंसिल (एआईसीसी) के राष्‍ट्रीय निदेशक जॉन बेनी लिंगम ने बताया कि बुधवार को समुदाय के 15-20 लोग बाइबिल की प्रतियां वितरित करने के लिए गांव की ओर जा रहे थे. इसी दौरान आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने उनका पीछा किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान रास्ते में आरएसएस कार्यकर्ताओं ने उनकी गाड़ी को रोक लिया. फिर उनके साथ मारपीट की गई. फिर गाडी में रखे बाइबिल का बॉक्‍स निकाल कर उसे जला दिया गया. ये घटना कुर्नूल जिले कोल्‍लारपुर मंडल के सिंगावत्‍नम गांव की है.

इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धार्मिक भावना भड़काने का मामला दर्ज किया है. हालांकि ईसाई संगठन इस घटना को लेकर गृह मंत्रालय को भी सूचित करने की योजना बना रहे है.

ध्यान रहे कथित धर्मांतरण का आरोप लगाकर आए दिन ईसाई समुदाय के साथ ऐसी घटना होती रहती है. हाल ही में मध्‍य प्रदेश के सतना जिले में ईसाई समुदाय के लोगों के साथ हिंसा का मामला सामने आया था.