kota1

कोटा : आॅल इंडिया तहरीक अहले सुन्नत की ओर से शनिवार रात को उम्मेद सिंह स्टेडियम में ईद मीलादुन्नबी काॅन्फ्रेंस हुई. इसमें देशभर के उलेमाओं के साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष संत समिति कल्की पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भी पैगंबर इस्लाम की शान में नाते पाक पढ़कर खिराज अकीदत पेश की.

इशा की नमाज के बाद काॅन्फ्रेंस शुरू हुई इस काॅन्फ्रेंस में देश भर से उलेमा तशरीफ़ लाये. इस दौरान कासिम अशरफ ने कहा कि नबी की मोहब्बत दुनिया की सबसे बड़ी दौलत है साथ ही उन्होंने इंसानियत की खिदमत को सबसे बड़ी इबादत बताया. उन्होंने कहा, हमें नबी की मोहब्बत दिल में रख कर इंसानियत के विकास के लिए काम करना चाहिए. उन्होंने कहा अगर इंसान सुधरेगा तो देश में अमन-शांति खुशहाली बनी रहेगी.

मौलाना फज्ले हक ने कहा कि इस्लाम के पैगंबर किसी एक धर्म के नहीं, सारी दुनिया के लिए रहमत बन कर आए. इसलिए उन्हें पैगंबर इंसानियत कहा गया है.

प्रो. डॉ. मोहम्मद नईमी ने कहा कि इस्लाम का आतंकवाद से दूर का भी रिश्ता नहीं है. कुरान में साफ लिखा है किसी एक बेकसूर की हत्या करना पूरी मानवता की हत्या करना है. किसी एक को हत्या से बचा लेना, पूरे संसार की मानवता की रक्षा करना है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें