Friday, January 28, 2022

गुजरात: प्रोफेसर ने गो मूत्र से सोना बनाने का किया दावा

- Advertisement -

गुजरात स्थित जूनागढ़ एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के एक प्रोफ़ेसर ने गो मूत्र से सोना बनाने का दावा किया हैं. डॉ. बीए गोलकिया ने  दावा करते हुए कहा कि उन्होंने चार साल की रिसर्च के बाद गोमूत्र से सोना बनाने की वैदिक विधि को खोज निकाला हैं.

बायोटेक्नोलाजी विभाग के अध्यक्ष डाॅ.गोलकिया ने जानकारी देते हुए कहा कि चार सालों की रिसर्च के दौरान गिर नस्ल की 400 से अधिक गायों के मूत्र की लगातार जांच करने के बाद उन्होंने एक लीटर गोमूत्र से 3 मिलीग्राम से 10 मिलीग्राम तक सोना बनाया हैं.

उन्होंने बताया कि प्राचीन ग्रंथों में गो-मूत्र में सोना पाए जाने की बात सुनी थी लेकिन साइंस में इसका सबूत नहीं था. पर जब इस पर रिसर्च की गई तो  हमने गिर नस्ल की 400 गायों के मूत्र का परीक्षण किया और हमने उसमें सोने को खोज निकाला. उन्होंने कहा गोमूत्र से सोना सिर्फ केमिकल प्रोसेस के जरिए ही निकाला जा सकता है.

डाॅ. गोलकिया के अनुसार , शोध के दौरान हमने गाय के अलावा, भैंस, ऊंट, भेड़ों के मूत्र का भी परीक्षण किया था लेकिन किसी में सोना नहीं मिला, इसके अलावा शोध में यह भी पाया गया है कि गो-मूत्र में 388 ऐसे औषधीय गुण होते है जिससे कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles