उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में दलित भेदभाव का मामला सामने आया है. जिले के गदाहा गांव में दलितों को रामायण पाठ से दूर रहने के लिए बाकायदा मंदिर के बाहर नोटिस चिपका कर चेतावनी जारी की गई है.

दरअसल मंदिर में 10 दिनों तक रामायण पाठ होना है. ऐसे में नोटिस के जरिये दलित समुदाय को चेतावनी दी गई कि पाठ के दौरान मंदिर में प्रवेश न करें. पुजारी के इस कदम से दलित समुदाय में आक्रोश है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दलितों का कहना है कि किसी भी धार्मिक कार्य के दौरान उनके समुदाय के लोगों को बाहर रखा जाता है. पुजारी का कहना है कि अगर दलित शामिल होते है तो बुरा संयोग लेकर आएंगे.

स्थानीय गुरु प्रसाद आर्य ने बताया कि यह कोई पहली बार नहीं है जब दलितों के मंदिर में प्रवेश पर रोक लगाई है. इससे पहले भी कई बार ऐसा किया गया है.

एसडीएम सुरेश कुमार ने कहा, ‘इस मामले की पूरी जांच की जाएगी. पुजारी की भूमिका अगर इसमें पाई जाती है तो उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी.’

Loading...