चार दिनों के दौरे पर भारत आई बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना रविवार को सुल्तान-ए-हिन्द हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी (रह.) के दरबार में अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ हाजिरी देने के लिए पहुंची.

अपने दौरे के तीसरे दिन शेख हसीना शेख हसीना सुबह मंत्रियों और अधिकारियों की टीम के साथ जयपुर एयरपोर्ट पहुंचीं. यहां से वो हेलीकॉप्टर के जरिये अजमेर के घूघरा एयरपोर्ट गईं. इसके बाद वो सड़क के रास्ते से दरगाह पहुंचीं. दरगाह के खादिम कमीलुद्दीन ने उन्हें जियारत कराई.

दरगाह कमेटी की तरफ से सभी मेहमानों की दस्तारबंदी की गई. जियारत के बाद उन्होंने  जन्नती दरवाजे के पास अकेले में 10 मिनट बैठकर उन्होंने कुरान की तिलावत की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बांग्लादेशी पीएम ने दरगाह की विजिट बुक में बांग्ला भाषा में ये संदेश लिखा- ‘ये अल्लाह के वली का दरबार है. यहां आने से रूहानी फैज मिलता है. दिल को सुकून मिलता है. यहां जो भी आता है, मुरादें पाता है. ख्वाजा के दरबार में आने से अल्लाहताला दुआएं कुबूल करता है.’

Loading...