गुजरात के ऊना में भगवा संगठनों द्वारा कथित गौरक्षा के नाम पर ऊना में दलितों की पिटाई की घटना के विरोध में आत्महत्या की कोशिश करने वाले दलित युवक की मौत हो गई.

25 वर्षीय योगेश हीराभाई सोलंकी ने राज्यव्यापी बंद के दौरान राजकोट के धोराजी में जहर पी लिया था. इलाज के लिए हीराभाई को राजकोट से अहमदाबाद सिविल अस्पताल लाया गया था जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

पुलिस ने बताया, ‘उसकी हालत बिगड़ने के बाद उसे राजकोट से अहमदाबाद सिविल अस्पताल लाया गया. उसे शनिवार देर रात को यहां लाया गया था, लेकिन इसके तुरंत बाद उसकी मौत हो गई.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें