पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में एक अनाथालय से बच्चो को विदेशो में बेचे जाने का खुलासा हुआ हैं. सीआईडी की टीम ने बच्चों के एक एनजीओ की अध्यक्ष सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इस रैकेट के तार प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की महासचिव से जुड़ रहे हैं.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, सात सदस्यीय सीआईडी टीम ने बिमला शिशु गृहो की अध्यक्ष चंदना चक्रवर्ती को एनजीओ के कार्यालय से गिरफ्तार किया है. साथ ही संगठन की चीफ अडॉप्शन ऑफिसर भी गिरफ्तार की गई है. इसके अलावा विमला शिशु आवास कांड में मयनागुड़ी के भाजपा महिला मोर्चा की नेत्री जूही सरकार (चौधरी) का नाम भी सामने आया हैं.

बिमला शिशु गृहो के कागजात के नवीकरण को लेकर वो खुद कई बार दिल्ली जाती रहीं. इतना ही नहीं आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने भी दावा किया है कि भाजपा नेता जूही चौधरी ने उसकी कई केंद्रीय नेताओं से मुलाकात करवाई थी. आरोपी भाजपा नेता के पिता और भाजपा की राज्य समिति के सदस्य रविंद्र नारायण चौधरी ने इन आरोपों को गलत ठहराया है. उनकी मानें तो चंदना चक्रवर्ती उनके यहां मदद मांगने के लिए आई थी, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आरोपी अब तक अनाथालय में रह रहे एक से 14 वर्ष की आयु वर्ग के करीब 17 बच्चों का सौदा कर चुके थे. बच्चों को भारत सहित अमेरिका, सिंगापुर, स्पेन और फ्रांस के दंपतियों को बेचा गया. इस काले कारोबार में बच्चों के बदले दस लाख तक की कीमत वसूली गई. हालांकि, ये भी आरोप है कि कई बार पैसे लेने के बाद भी दंपतियों को बच्चे नहीं सौंपे गए.

Loading...