अलीगढ़ मुस्‍लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) छात्रसंघ चुनाव रद्द कर दिया गया है. ये फैसला चुनाव आयोग की बैठक के बाद लिया गया है.

चुनाव प्रचार के दौरान उम्‍मीदवार लिंगदोह कमेटी के बनाए नियमों का उल्‍लंघन करने के आरोप में छात्रसंघ चुनाव रद्द किये गए हैं. दरअसल चुनाव प्रचार के दौरान उम्‍मीदवार आपराधिक किस्‍म के युवाओं को साथ लेकर घूम रहे थे. जिसके बाद बुधवार की शाम को करीब दो घंटे तक चली बैठक के बाद चुनावों को तत्‍काल प्रभाव से रद्द करने का फैसला लिया गया है.

कैंपस में पिछले एक सप्ताह से चुनाव का माहौल था और सभी छात्र नेता अपनी चुनावी तैयारी में लगे हुए थे. तनाव को देखते हुए कैंपस में भारी तादाद में फ़ोर्स लगा दी गयी है. परिषद की बैठक के बाद एएमयू वीसी लेफ्टिनेंट जनरल रिटायर्ड जमीरउद्दीन शाह का फैसला आने से पहले एएमयू परिसर को छावनी बना दिया गया.

लिंग्दोह की सिफारिशों के मुताबिक, आपराधिक रिकॉर्ड वाला छात्र चुनाव नहीं लड़ सकता, प्रत्याशी चुनाव में अधिकतम पांच हजार तक खर्च कर सकेगा, ध्वनि विस्तारक यंत्रों, गाडियों एवं पशुओं का प्रचार नहीं होगा, प्रत्याशी छपे हुए पोस्टर, पंपलेट अथवा किसी भी प्रकार की छपी हुई सामग्री उपयोग नहीं कर सकता.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano