उत्‍तर प्रदेश में इन दिनों अल्पसंख्यक समुदाय को धार्मिक शिक्षा हासिल करना भी दूभर होता जा रहा है. प्रदेश में जब से दक्षिणपंथी सरकार का गठन हुआ देश का सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय अपने धार्मिक क्रियाकलापों को सही ढंग से अंजाम नहीं दे पा रहा है.

हाल ही में भगवा संगठनों ने प्रदेश में ईसाई समुदाय को क्रिसमस न मनाने को लेकर धमकी भरे फरमान जारी किये थे. अब अमरोहा जिले के गंगेश्‍वरी गांव में मुस्लिम समुदाय पर नमाज और अन्य धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगाई जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्थानीय मुस्लिम युवक जाकिर अली के घर समुदाय के लोगों द्वारा सामूहिक नमाज पढ़े जाने को लेकर कुछ दक्षिणपंथियो ने आपत्ति जताई तो पुलिस ने तत्काल कानून एवं व्‍यवस्‍था का हवाला देकर इस पर रोक लगा दी.

हसनपुर (अमरोहा) के सर्किल ऑफिसर अजय कुमार ने बताया, जाकिर अली अपने घर के ग्राउंड फ्लोर पर पिछले महीने से मदरसा चला रहे हैं. जिस पर कुछ लोगों ने आपत्ति उठाई.

उन्होंने बताया, मौजूदा हालात को देखते हुए किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है.

Loading...