आला हजरत खानदान से तालुक रखने वाले मौलाना तौकीर रजा खां ने अब समाजवादी पार्टी मचे घमासान के बीच पार्टी मुखिया मुलायम सिंह के समर्थन में कूद आये है. जहाँ तौकीर रज़ा ने मुलायम सिंह को मजलूम बताया वहीँ यह भी कहा की इस झगड़े के कारण सूबे का विकास रुक गया है. वैसे आपको बताते चले की मौलाना तौकीर रज़ा के मुलायम सिंह के समर्थन में आने मुलायम सिंह का पक्ष मजबूत होगा.

बरेलवी बसलक से जुड़े इत्तेहादे मिल्लत कौंसिल (आईएमसी) के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने मुलायम सिंह यादव को कमजोर तथा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को जालिम का दर्जा तक देते हुए कहा कि सपा में सत्ता पर कब्जा करने की घरेलू लड़ाई से सूबे का विकास रुक गया हैं. उन्होंने कहा कि अखिलेख यादव ने बेटे की जिम्मेदारी नहीं निभाई हैं. जबकि मुलायम सिंह यादव ने बाप का फर्ज अदा किया है.

मौलाना तौकीर ने मुलायम और अखिलेश के बीच विवाद की वजह आरएसएस को बताते हुए कहा कि आरएसएस की वजह से परिवार दो हिस्सों में बंट गया है और परिवार को आरएसएस के निशाने पर रामगोपाल यादव ने लेंने में भूमिका निभाई है. उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार चुनाव में प्रोफेसर रामगोपाल यादव की वजह से भाजपा को फायदा हुआ था.

उन्होंने कहा कि हम सच्चे मुसलमान हैं. मुसलमान हमेशा मजलूम के साथ होता है जालिम के साथ कभी नहीं रहा है. उन्होंने आगे कहा कि मुलायम सिंह यादव ने बाप की हैसियत से अपनी जिम्मेदारियों को अंजाम दिया, लेकिन बेटे की हैसियत से अखिलेश यादव ने बाप का साथ नहीं दिया और घर से निकल दिया. वह जालिम हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें