Wednesday, January 19, 2022

तांत्रिक के चक्कर में बेटे को बचाने के लिए तीन माह की बेटी कोघड़े में रख जिंदा दफनाया

- Advertisement -

बेटी बचाओं – बेटी पढाओं का अभियान चलाया जा रहा हैं. वहीँ दूसरी तरफ कुछ लोग एेसे भी हैं जो आज भी बेटियों को मार रहे हैं. ऐसा ही एक मामला यूपी के अमरोहा में सामने आया है. जहाँ एक पिता पर बेटें को बचाने के लिए तांत्रिक के चक्कर में दो माह की बेटी को जिंदा जमीन में गाड़ने का आरोप लगा है.

थाना सैदनगली के गांव ढक्का निवासी ग्रामीण ने एक तांत्रिक के बहकावे में आकर अपनी ही तीन माह की बच्ची को जिंदा ही हांडी में बंद कर दिया और उसे जमीन में दफना दिया.

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार  ढक्का निवासी खालिद उर्फ सुकवा पुत्र शाकिर अली की पत्नी हुस्न जहां को करीब दस साल पहले एक बेटा पैदा हुआ था. वह सही-सलामत है. इसके बाद तीन-चार लड़के पैदा हुए लेकिन कोई जीवित नहीं बचा. खालिद  इस वजह से परेशान था। दस माह पहले एक बच्ची पैदा हुई. वह बीमार चल रही थी.

ग्रामीणों के मुताबिक खालिद ने एक तांत्रिक से संपर्क किया जिसने सलाह दी कि दो माह के जिंदा बच्चे को जमीन में दबाने से यह समस्या खत्म हो सकती है. इसके बाद उसने रविवार शाम को बच्ची को मिट्टी की हांडी में रखकर बंद कर दिया और पत्नी के साथ गांव के ही  गयासुद्दीन के बाग में गढ्ढा खोदकर दबा दिया.

घटना की सूचना पर पहुंची थाना पुलिस ने पांच घंटे बाद ग्रामीणों की मदद से बच्ची के शव को गड्ढे से निकाला और पोस्मार्टम के लिए भेज दिया. घटना के बाद से थाना पुलिस आरोपी पिता और तांत्रिक की तलाश में लगी है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles