फलाहारी महाराज के नाम से प्रसिद्ध गुरू जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी बलात्कार के आरोप में गिरफ्तारी से बचने के लिए अस्पताल में भर्ती हो गए है. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक लड़की ने उन पर बलात्कार का मामला दर्ज कराया है.

हालांकि बाबा फलाहारी के शिष्य सुदर्शनाचार्य ने इस पूरे मामले को झूठा बताया है. उन्होंने कहा कि बाबा की छवि खराब करने और ब्लैकमेल करने के लिए इस तरह की हरकत की गई है. दरअसल, लड़की का आरोप है कि फलाहारी महाराज ने उसके साथ आश्रम में बलात्कार करने की कोशिश की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस की और से गिरफ्तारी की खबर मिलने के साथ ही बाबा बुधवार शाम 6 बजे अलवर के बसंत विहार स्थित हॉस्पिटल में खुद जाकर भर्ती हो गया. जिसकी वजह से उससे पुलिस पूछताछ भी नही कर सकी. वह आईसीयू में भर्ती हैं. वहीं अस्पताल के बाहर पुलिस जाब्ता तैनात है.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा ने बताया कि पीड़िता कानून की पढ़ाई के दौरान बीते सात अगस्त को उनके आश्रम गयी थी. उन्होंने बताया कि महाराज ने उसी दिन अपने एक शिष्य की मदद से पीडिता को अपने कक्ष तक बुलाया और उसके साथ यौन शोषण किया.

लड़की की बिलासपुर की रहने वाली है और जयपुर में वकालत कर रही है. इंटरशिप पूरी होंने पर वह अपनी पहली कमाई फलाहारी महाराज को अर्पण करने के लिए आश्रम पहुंची थी.

Loading...