दिल्ली पुलिस ने हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट चलाने वाले आवामी भीमानंद को आज गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उसकी महिला साथी के साथी को भी गिरफ्तार किया है.

भीमानंद को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर अमर कॉलोनी थाना पुलिस को सौंप दिया. चित्रकूट के चमरौहा गांव का रहने वाला स्वामी पर अब आईआरसीटीसी में नौकरी दिलाने के नाम पर एक महिला से करीब 30 लाख रुपये ठगने का आरोप है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले 2009 में भी बाबा को सेक्‍स रैकेट चलाने के मामले में गिरफ्तार किया गया था.  लेकिन इसके बाद भीमानंद जमानत पर रिहा हो गया था. अपनी करतूतों को छिपाने के लिए बाबा ने दिल्ली के बदरपुर मंदिर में उसने अपना साईं मंदिर भी बनावाया था.

मंदिर में कई एमपी और एमएलए दर्शन के लिए आते हैं. इसी मंदिर की आड़ में वेश्यावृत्ति  का धंदा चलता था. असली नाम शिव मूरत द्विवेदी है. फरवरी 2010 में जब दो एयरहोस्टेस समेत आठ लोगों को सेक्स रैकेट चलाने के मामले में गिरफ्तार हुआ था. तब इसका सच दुनिया के सामने आया.

करोड़ों की संपत्ति वाला यह बाबा पहले पांच सितारा होटल में गार्ड की नौकरी करता था. इसके बाद इसने भारी-भरकम संपत्ति अर्जित की. 2015 में स्‍वामी की संपत्ति प्रदर्शन निदेशालय ने जब्‍त भी कर ली है.

Loading...