तेजस्वी यादव पर भ्रष्टाचार के कथित आरोपों को लेकर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर बीजेपी के साथ फिर से सत्ता हासिल करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस बार बिहार को तीन-चौथाई मंत्री दागदार दिए है.

सुशासन बाबू के मंत्रिमंडल में इस बार 29 में से 22 आपराधिक छवि के मंत्री है. इस बात का खुलासा एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में हुआ है. इन मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं.

रिपोर्ट के अनुसार इनमें नौ मंत्री ऐसे हैं, जिनके विरुद्ध गंभीर प्रकृति के आपराधिक मामले हैं. एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार नौ मंत्री महज आठवीं से 12वीं तक की शिक्षा हासिल किये हुए है. वहीँ18 मंत्रियों ने स्नातक और उससे ऊपर की शिक्षा ग्रहण की है.

हालांकि नए मंत्रिमंडल में करोड़पति मंत्रियों की संख्या कमी आई है. पहले करोड़पति मंत्रियों की संख्या 22 थी, वह अब घटकर 21 हो गई है. अगर नए मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों की आर्थिक हैसियत देखी जाए तो प्रति मंत्री के पास 2.46 करोड़ की संपत्ति है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?