सॉफ्ट हिंदुत्व की राजनीति कर रही कांग्रेस अब मध्यप्रदेश में आरएसएस के कामों को ही आगे बढ़ा रही है। वंदेमातरम् गायन पर घिरी कमलनाथ सरकार ने सामूहिक सूर्य नमस्कार पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, यह आयोजन हर बार की तरह 12 जनवरी को प्रदेशभर में संपन्न् होगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसे हरी-झंडी दे दी है। इस फाइल को मुख्यमंत्री ने हस्ताक्षर कर चंद घंटों में वापस भेज दिया।

Loading...

बता दें कि भाजपा ने स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में इसे वर्ष 2009 में शुरू किया था। प्रदेश के सभी सरकारी और निजी स्कूल- कॉलेजों में योग कराया जाता है। इस दौरान 12 आसन कराए जाते हैं।

kamal1

इस कार्यक्रम का अल्पसंखयक समुदाय धार्मिक आस्था की वजह से विरोध करता आया है। लेकिन आरएसएस और बीजेपी के विरोध के आगे अब कमलनाथ सरकार को ये विरोध नजर नहीं आ रहा है।

माना जा रहा था कि सामूहिक सूर्य नमस्कार के आयोजन पर राजस्थान सरकार का कदम सामने आने के बाद अफसरों को मध्य प्रदेश में भी रोक लगने की आशंका थी, लेकिन सीएम सचिवालय से फाइल स्वीकृति के साथ लौटी।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें