tajj

tajj

ताज महल को लेकर विवाद के चलते योगी सरकार को हाल ही में दुनिया भर में शर्मसार होना पड़ा था. अब सुप्रीम कोर्ट ने भी ताजमहल को लेकर योगी सरकार को कड़ी फटकार लगाई है.

दरअसल, पार्किंग को लेकर याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने टिप्पणी की कि “ताज महल एक ही है, यह एक बार बर्बाद हो गया तो फिर दोबारा नहीं बनेगा”. साथ ही कोर्ट ने ताजमहल के 500 मीटर के दायरे में गाड़ियों के चलने पर प्रतिबंध को जारी रखा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कोर्ट की ये टिप्पणी योगी सरकार की और से सुप्रीम कोर्ट से ताज संरक्षित क्षेत्र में मल्टी लेवल पार्किग बनाने के लिए 11 पेड़ काटने की इजाजत मांगने के बाद सामने आई है. सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल और उसके आसपास के इलाके ताज ट्रेपीजियम जोन (टीटीजेड) के संरक्षण के लिए यूपी सरकार की योजना पर नाराजगी जताई.

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से कहा, “आगरा में प्रदूषण का स्तर ज्यादा है. ऐसे में यूपी सरकार को इस तरह के निर्माण कार्य की इजाजत नहीं दी सकती.” सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम किसी भी निर्माण के खिलाफ नहीं है, लेकिन निर्माण कार्य और पर्यावरण में संतुलन होना चाहिए.

सुप्रीम ने पूछा पर्यावरण के अलावा ताज महल के संरक्षण के लिए और क्या पॉलिसी है? सुप्रीम कोर्ट दो हफ्ते बाद अब इस पूरे मामले की सुनवाई करेगा.

Loading...