azam

उत्तरप्रदेश के कैबिनट मंत्री आजम खान ने वायुसेना में दाड़ी ना रखने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सुन्नत दाढ़ी और पीएम मोदी की दाढ़ी में जमीन आसमान का फर्क है. उन्होंने कहा कि हर मजहब में दाढ़ी रखने को मोहतरम माना गया है और यह आस्था का विषय है.

इसके अलावा उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा बुलन्दशहर गैंगरेप मामले में दिए गये ब्यान को लेकर माफ़ी दिए जाने पर सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया करते हुए कहा कि जिन बच्चियों की तालीम के लिए दुनिया से लड़ रहा हूं उनकी आबरू और इज्जत पर घटिया बयानबाज़ी के लिए सोचना भी मेरे लिए किसी गुनाह से कम नही है. ऐसा करने से बेहतर में मर जाना समझता हूं.

बुलंदशहर गैंग रेप मामले पर उन्होंने कहा मैं मर जाना पसंद करुगा लेकिन ऐसी बयान की बात सोच भी नहीं सकता. हमारे बारे में ऐसा कहने वाले मानवता के दुश्मन है.

उन्होंने कहा कि वो बिना शर्त माफीनामे की बात नहीं थी। जिन बच्चियों की तालीम और आबरू के लिए हमने पूरी जिंदगी लगा दी हो उनके सम्मान के खिलाफ अगर हमारे बारे में कोई कहे तो वो पूरी मानवता का दुश्मन है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें