Saturday, December 4, 2021

1938 से लगी है जिन्ना की तस्वीर, लेकिन किसी को पहले आपत्ति नहीं थी: AMU VC

- Advertisement -

अलीगढ़ मुस्लिम विश्विविद्यालय में जिन्ना की तस्वीर पर उपजे विवाद पर अब अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति की प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर विवाद पैदा करने की कोई पुख्ता वजह नहीं है.

वाइस चांसलर प्रोफेसर तारीक मंसूर ने कहा कि जिन्ना की तस्वीर ऐसे ही 1938 से ही एएमयू में लगी हुई है जैसे कि वह बॅाम्बे हाईकोर्ट और साबरमती आश्रम और अन्य जगह लगी हुई है.

उन्होंने कहा, इससे पहले किसी ने भी इस बात पर आपत्ती नहीं उठाई. उन्होंने कहा कि लोग बेवहजह इस विवाद को बढ़ा रहे है. प्रोफेसर तारीक मंसूर ने एएमयू में छात्रों के प्रदर्शन के बचाव में कहा कि यूनिवर्सिटी कैंपस में छात्रों के प्रदर्शन का जिन्ना की तस्वीर से कोई लेना-देना नहीं है.

प्रोफेसर तारीक मंसूर ने एएमयू छात्रों का बचाव करते हुए कहा कि छात्र जिन्ना की तस्वीर को हटाने को लेकर प्रदर्शन नहीं करे रहे है, ब्लकि छात्र तो इस बात को लेकर अपना रोष व्यक्त कर रहे है क्योंकि कुछ लोगों ने जबरन एएमयू में घूसकर यूनिवर्सिटी की शांति को भंग करने की कोशिश की थी.

विश्वविद्यालय में हिंसा के संबंध में उन्होंने चीफ सेक्रेटरी से बातचीत कर न्यायिक जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन का साफ मानना है कि शैक्षणिक संस्थाओं को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनाना चाहिए.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles