Tuesday, September 28, 2021

 

 

 

अजमेर दरगाह से लौट रहे जायरीनो पर पथराव और मारपीट से संभल में तनाव

- Advertisement -
- Advertisement -

screenshot_54

संभल – अजमेर दरगाह से वापस लौट रहे जायरीनो पर पथराव, पीटने और बंधक बनाने का मामला सामने आने पर संभल क्षेत्र में तनाव फ़ैल गया है.

गौरतलब है की कुंदरकी के 80 से अधिक लोग अजमेर दरगाह ज्यारत के लिए गये थे. वहां से सोमवार को वापस लौटते समय रजपुर थाना क्षेत्र के कमालपुर में कंटेनर के पीछे चल रही ट्रेक्टर ट्राली से किसी ने कंटेनर पर पत्थर मारा जिससे कंटेनर चालक और ट्राली चालक में विवाद हो गया, जिसकी सूचना ट्राली चालक ने स्थानीय लोगो को दी. स्थानीय नागरिको ने पहले से ही बैलगाड़ियाँ और सड़क अवरोधक लगाकर रास्ता बंद कर रखा था तथा उनमे से कुछ लोग ज्यारिनो की गाडी में पशु होने की बात करने लगे. जिस पर जायरीनो की गाडी की तलाशी ली गयी तो उसमें महिलाएं और बच्चे थे पशु ना मिलने से बौखलाए भीड़ ने कंटेनर पर पत्थर मारना शुरु कर दिया। इसके बाद ड्राइवर को खींच कर पीटा गया.

किसी तरह एक जायरीन ट्रक लेकर संभल की तरफ भागा इसी आपा-धापी में चार जायरीन मौके पर ही छूट गये जिन्हें भीड़ ने बाधक बना लिया.करेंटर में बैठे लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। उधर कुंदरकी के लोगों ने घटना की जानकारी संभल के लोगों को फोन पर दी। जानकारी मिलते ही संभल के लोगों ने जायरीनों के आने का इंतजार चौधरी पुलिस चौकी के सामने किया। जब कंटेनर में महिलाओं और बच्चों की हालत देखी तो मारपीट का मंजर सुना तो लोग भड़क गए। जाम लगा दिया। सूचना पर एएसपी राम मूरत यादव, कोतवाल सुरेंद्र सिंह यादव, एसडीएम अखिलेश यादव, एडीएम आरपी सिंह यादव मौके पर पहुंच गए। उधर रजपुरा पुलिस ने बंधकों को छुड़ाया।

लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर शांत किया था कि कुछ लोगों से सीओ की नोकझोंक हो गई। कुछ लोगों पथराव शुरू कर दिया। पथराव के बाद अवैध शस्त्रों से कुछ लोगों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। लगभग आधा घंटे तक पथराव और फायरिंग होती रही। पुलिसकर्मी अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागे। पत्थर लगने से दारोगा सोनूनाथ और राजपाल सिंह, तीन सिपाही और सीओ अफसर अब्बास जैदी समेत कुल 12 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। जिन्हें अस्पताल लाया गया है। वहीं बंधक बनाए गए चार जायरीनों समेत कुल छह जायरीनों को भी उपचार के लिए जिला अस्पताल संभल लाया गया है।

जायरीन का आँखों देखा हाल

हम लोग एक बड़े कंटेनर पर सवार होकर सोमवार को अजमेर शरीफ गए थे। बुधवार को अजमेर शरीफ से लौट रहे थे। जब हमारा कंटेनर शाम सात बजे के करीब रजपुरा थाना कमालपुर गांव के पास था। पीछे-पीछे एक ट्रक्टर ट्राली आ रही थी। ट्रक्टर ट्राली में सवार लोगं ने साइड न ममलने पर अचानक एक पत्थर मारा जिससे कंटेनर के आगे का शीशा टूट गया। जैसे ही कंटेनर रुका तो पहले विवाद हुआ और गली गलोच हुई और इसके बाद कुछ लोगो ने मारपीट की। मारपीट और हंगामे के शोर शराबे पर गांव के लोग जमा होने लगे। कुछ ही देर मं कंटेनर पर सवार महिलाओ और बच्चों को पीटा गया। मेरी दाढ़ी को भी उखाड़ा गया। मेरी दाढ़ी हाथ मं आ गई। मुझे जिंदा फूंकने के प्रयास किया गया-

(तज्मुल हुसैन ने बंधक मुक्त होने के बाद संभल मं दी जानकारी)।

इस तरह की घटना से इलाके में तनाव फैला हुआ है हालाँकि पुलिस का कहना है की आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ़्तारी नही हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles