uday

वसुंधरा सरकार के शासन में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है. अल्पसंख्यकों को सरेआम मारा जा रहा है. उनका महिमामंडन किया जा रहा है. यहाँ तक कि अब न्याय के मंदिर भी सुरक्षित नहीं बचे है. पुलिस की मौजूदगी में अदालतों पर भगवा फहराए जा रहे है.

मामला उदयपुर का है. गुरुवार को हिदुवादियों ने धारा-144 की धज्जियाँ उड़ाते हुए जमकर उत्पात मचाया. पुलिस की मौजूदगी में हिदुवादियों ने स्थानीय अदालत में भगवा झंडा फहरा दिया. इस दौरान हिदुवादियों ने पुलिसकर्मियों को भी जमकर पीटा.

हिदुवादियों की हिंसा में एडिशनल एसपी सुधीर जोशी भी न बच सके. इस हिंसा में 10 पुलिस अफसरों सहित 31 जवान घायल हो गए. देर रात तक पुलिस ने 88 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया. लेकिन भगवा संगठनों के दबाव में आकर जमानत पर छोड़ दिया गया.

इस दौरान हिंदुत्व के आतंकियों ने वीडियो सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल किया. जिसमे एक हिंदूवादी नेता कह रहा है कि “पुलिस क्या करेगी हम हिंदू हैं. हिंदू के आगे पुलिस को खड़ा रहना पड़ा है. जब हम कोर्ट में घुस गए हैं तो अब इन मुल्लों के घरों में भी घुसकर मार सकते हैं.”

“जब हम कोर्ट में घुस गए हैं तो अब मुल्लों के घरों में भी घुस कर मारेंगे।” जब राजस्थान में हिंदुत्व आतंकियों ने उड़ाया प्रजातंत्र का मज़ाक़।

Posted by जनता का रिपोर्टर on 16 ಡಿಸೆಂಬರ್ 2017

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano