west bengal 2018032710190304 650x

नई दिल्ली: रामनवमी पर जुलूस को लेकर पश्चिम बंगाल में दूसरे दिन भी हिंसा की कई घटनाएं सामने आई हैं. सोमवार के दिन मुर्शिदाबाद और बर्द्धमान जिलों में भगवा संगठनों के सदस्यों और पुलिस के बीच झड़प हुई.

पुलिस के अनुसार ऐसे ही एक झड़प में पुलिस टीम के ऊपर बम भी फेंका गया. इस घटना में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए. बम के फटने से पुलिस अधिकारी को अपना एक हाथ गंवाना पड़ा.

मुर्शिदाबाद के कंडी इलाके में सोमवार को उस वक्त संघर्ष हुआ जब रामनवमी की रैली में हिस्सा लेने वाले, कथित तौर पर तलवार और त्रिशूल से लैस लोगों ने थाना में घुसने का प्रयास किया. इस दौरान उन्होंने जमकर तोड़फोड़ भी की. इस घटना में 10 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. सदर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनीश सरकार ने बताया कि समिति में भाजपा और विहिप के कार्यकर्ता शामिल थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राज्य में बिगड़े हालात को देखते हुए ही बाद में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया था जो जुलूस के दौरान हथियार लेकर चल रहे थे. मुख्यमंत्री ने इस हिंसा को लेकर एक सभा में कहा कि कानून अपना काम करेगा. मैं इस तरह की हिंसा को कभी बर्दाश्त नहीं करूंगी. उन्होंने कहा कि अगर पुलिस कार्रवाई करने में विफल रहती है तो उसके खिलाफ कदम उठाए जाएंगे.

पश्चिमी बर्द्धमान जिले के रानीगंज इलाके में दो पुलिस अधिकारी उस वक्त गंभीर रूप से घायल हो गए जब एक रैली के दौरान दो समूहों ने एक-दूसरे पर हमला किया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि एक रामनवमी जुलूस ने कथित तौर पर उस इलाके में घुसने का प्रयास किया जहां अल्पसंख्यक समुदाय के लोग बड़ी तादाद में रहते हैं.

उन्होंने बताया कि दो समुदाय के सदस्यों के बीच पुलिस के हस्तक्षेप का प्रयास करने के बावजूद झड़प हुई. उन्होंने बताया कि संघर्ष के दौरान इलाके में एक मंदिर पर भी हमला किया गया. इसी बीच बीजेपी महिला मोर्चा की पश्चिम बंगाल इकाई की अध्यक्ष लॉकेट चटर्जी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया. उनके खिलाफ रविवार को राज्य के बीरभूम जिले में सशस्त्र रामनवमी जुलूस में कथित तौर पर हिस्सा लेने के लिये मामला दर्ज किया गया है.

Loading...