mmm

केंद्र सरकार के तीन तलाक बिल के खिलाफ उत्तरप्रदेश के संभल में हजारों मुस्लिम महिलाओं ने जोरदार तरीके से आवाज बुलंद करते हुए बिल का विरोध किया.

बुधवार को संभल की सड़कों पर बुर्कानशींन महिलाओं का सैलाब उमड़ आया. हजारों मुस्लिम महिला तीन तलाक बिल के खिलाफ नारे लिखी हुईं तख्तियां थामे हुए नजर आई.

मुस्लिम महिलाओं का कहना था कि वे शरीयत में महफूज हैं, फिर उन पर तीन तलाक का बिल क्यों थोपा जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमें शरीयत में किसी भी तरह का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं है. हम केंद्र सरकार की ओर से प्रस्तावित बिल का विरोध करते हैं और इस बिल को लाने वालों की निंदा करते हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की सदस्य ममदूहा माजिद ने कहा कि केंद्र सरकार का तीन तलाक बिल शरीयत और मुस्लिम समाज की धार्मिक भावनाओं के खिलाफ है. राजस्थान से आईं मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की महिला विभाग की सदस्य डा. यास्मीन ने कहा कि मुसलमान शरीयत के मुताबिक जिंदगी गुजारें और परिवार का माहौल ऐसा बनाएं कि तीन तलाक की नौबत न आए

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की सदस्य आमना रिजवान ने कहा कि तीन तलाक पर मुसलमानों को किसी कानन की जरूरत नहीं है. स्लिम औरतें शरीयत के कानून से सुरक्षित है. मुस्लिम  महिलाओं ने उप जिलाधिकारी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी के हाथों में राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक ज्ञापन सौंपा.