kuldeep singh 620x400

उन्नाव गैंगरेप मामले में रविवार को आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सहित उसके चार साथियों को जेल भेज दिया गया है. दरअसल, सीबीआई के रिमांड की अवधि आज समाप्त हो गई और सीबीआई ने दोबारा रिमांड नहीं मांगी.

जानकारी के मुताबिक उन्नाव गैंगरेप केस की जांच कर रही सीबीआई ने बीते गुरुवार को एक बार फिर पीड़िता, उसकी मां और चाचा से पूछताछ की थी. कहा जा रहा है कि सीबीआई को पूछताछ में काफी अहम जानकारियां मिली हैं, इसलिए दुबारा रिमांड नही माँगा गया.

इसी बीच सीबीआई को पीड़िता के पिता के खिलाफ पुलिस की एफआईआर फर्जी होने के सबूत मिले हैं. साथ ही सीबीआई ने आरोपी अतुल सिंह की फॉरच्यूनर और रायफल अपने कब्जे में ले लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सीबीआई को दो मई को हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करनी है। इसे ध्यान में रखते हुए सीबीआई ने फिलहाल अब तक की गई पड़ताल के आधार पर कड़ियों को जोड़ना शुरू कर दिया है.अभी तक जितने लोगों के बयान और साक्ष्य हुए हैं उन सभी को जोड़ने का काम चल रहा है. जिसने भी जो जानकारियां दी हैं उसके पक्ष में सीबीआई साक्ष्य जुटा रही है.

जानकारी के मुताबिक विधायक के भाई समेत पांच आरोपितों को जेल में दाखिल करने के बाद सीबीआई पीड़िता के साथ गैंगरेप के तीनों आरोपितों शुभम, अवधेश तिवारी व बृजेश यादव पर अपना शिकंजा कसेगी. अगले चरण में इन तीनों से पूछताछ हो सकती है.

इसके साथ ही सीबीआई टीम ने शुक्रवार को उन्नाव में सीएमओ आफिस से गैंगरेप से जुड़ी मेडिकल रिपोर्ट, उसकी जांच करने वाले डॉक्टरों का ब्यौरा जुटा रही है. जल्द ही इनसे भी पूछताछ हो सकती है. इसके अलावा उन्नाव की एसपी पुष्पांजलि समेत मामले में लापरवाही बरतने वाले तत्कालीन सीओ सफीपुर, एसओ माखी व पांच अन्य पुलिसवालों से भी सीबीआई पूछताछ करेगी.

Loading...