rape victim 1

उन्नाव गैंगरेप मामले में बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बता दें कि न्याय की मांग को लेकर पीड़िता ने सीएम आवास के सामने खुद को आग लगा ली थी.

अतुल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने बीती 3 अप्रैल को केस वापस लेने के लिए पीड़िता के पिता को बेहरहमी से पीटा था और मारपीट का मुकदमा लिखवाकर पीड़िता के पिता को ही जेल भेज दिया था. जिसके बाद 9 अप्रैल को जेल में उनकी ही मौत हो गई.

डीजीपी ओपी सिंह ने अतुल सिंह की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि अतुल सिंह के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य मौजूद हैं. इस मामले को लेकर विपक्ष योगी सरकार पर हमलावर है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि मुख्यमंत्री आवास पर आत्मदाह की कोशिश करने वाली दुष्कर्म की पीड़िता के पिता की ‘पुलिस कस्टडी’ में दर्दनाक मृत्यु अत्यंत दुखदायी है. इसकी उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. महिलाओं के मान की रक्षा के लिए नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

पीड़िता का आरोप है कि  आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के बाद से ही उसे और उसके परिवार को धमकाया जा रहा है. साथ ही आरोपियों ने मारपीट भी की गई.

लखनऊ एडीजी राजीव कृष्ण ने कहा, ‘पीड़िता ने आरोप लगाया कि कुलदीप सिंह सेंगर ने उनके साथ बलात्कार किया, कोई कार्रवाई नहीं हुई और उन्हें अन्य पार्टी ने मारा. आगे की जांच में यह पाया गया कि 10-12 साल से दोनों पार्टियां विवाद में हैं. मामले लखनऊ स्थानांतरित कर दिया गया है. आरोपों को पूरी जांच के बाद ही साबित किया जा सकता है.’