bhimrao ambedkarambedkarblue

यूपी के बदायूं में बीते दिनों खंडित की गई भीमराव अंबेडकर की नई मूर्ति को योगी सरकार ने स्थापित करवा दिया है. हालांकि मूर्ति को भगवा किये जाने से नया बवाल शुरू हो गया. जिसे बाद में नीला करवा कर ठंडा किया गया.

बंदायूं BSP के जिलाध्यक्ष हेमेन्द्र कुमार गौतम का कहना है कि जिस दिन अंबेडकर की प्रतिमा तोड़ी गई थी, उसी दिन प्रशासन से दूसरी प्रतिमा लगाने को लेकर उनसे संपर्क किया था. जिसके बाद उन्होंने कुछ लोगों के साथ मिलकर शांति कायम रखने के लिए आगरा से अंबेडकर की भगवा रंग वाली मूर्ति खरीदी थी, लेकिन अब रंग को लेकर विवाद के बाद उन्होंने फिर से मूर्ति का रंग नीला करवा दिया है.

BSP नेता ने खुद अपने हाथों से अंबेडकर के भगवा रंग की प्रतिमा पर नीला रंग चढ़ाया. उनका कहना है कि इस पीछे कोई राजनीति साजिश नहीं है. उन्होंने आज इसकी लिखित जानकारी दी.

उपजिलाधिकारी सदर पारसनाथ मौर्य ने बताया कि आगरा में बाबा साहब की जो मूर्ति प्रशासन द्वारा पसंद की गई थी उसकी लम्बाई मात्र साढ़े तीन फुट थी, जिसे लोगों द्वारा नापसंद कर दिया गया था. इसके अतिरिक्त जो मूर्ति थीं वह भी कमेटी के लोगों को पसंद नही आईं. बाद में भगवा रंग की बाबा साहब की पांच फुट की मूर्ति सभी लोगों को पसंद आ गई थी.

भगवा रंग के सवाल पर उपजिलाधिकारी ने कहा कि कमेटी के लोग नीला रंग भी साथ लेकर आए थे, लेकिन बिना रंग बदले ही मूर्ति स्थापित कर दी गई थी. उन्होंने बताया कि अब सभी लोगों से विचार-विमर्श के बाद मूर्ति की पोशाक का रंग पुनः नीला करा दिया गया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?