kushi

उत्तरप्रदेश के कुशीनगर में हुए स्कूल वेन के हादसे में पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान के चलते लोगों में बड़ा गुस्सा है और अब बच्चों का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों की मानवता को शर्मसार करने वाली लापरवाही सामने आई है.

दरअसल, शनिवार को स्वास्थ्य महकमे की और से पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने मासूम बच्चों के शवों को बिना सिलाई किये ही छोड़ दिया. जिससे उनके शरीर के अंग बाहर आ गये. डॉक्टरों ने पेट और सिर का पोस्टमार्टम करने के बाद सिला ही नहीं.

इस बात का खुलासा उस वक्त हुआ जब विशुनपुरा थाने के पडरौन मडुरही के रहने वाले हैदर के दोनों बेटे के शवों को नहलाने के लिए खोला गया तो भीतर के सारे अंग दिखाई दे रहे थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

kushinagar kids death

डॉक्टरों की इस लापरवाही ने परिजनों के जख्मों पर नामक छिडकने का काम किया. दोनों बच्चों को बिना नहलाये ही दोनों मासूमों के शवों को  सुपर्द-ए-खाक किया गया.

बता दें कि गुरुवार सुबह रेल से टकराकर हुए वेन हादसे में 13 स्कूली बच्चों की मौत हो गई. इस घटना में 7 बच्चे गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

Loading...