rape11 1

गाजियाबाद के मदरसे में दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने आरोपी मौलवी को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी की पहचान बिहार निवासी गुलाम शाहिद (34) के रूप में हुई है. अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि मौलवी की गिरफ्तारी पॉक्सो एक्ट के तहत की गई है.

बता दें कि बीते 21 अप्रैल को लड़की के पिता ने पुलिस को अपनी बच्ची की गुमशुदगी की सूचना दी थी. काफी छानबीन के बाद बच्ची को 22 अप्रैल को गाजियाबाद के एक मदरसे से बरामद किया गया था. बच्ची की जांच के बाद उससे रेप की बात सामने आई. मामले में पुलिस ने पहले ही एक नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया हुआ है. पकड़े गए किशोर के बड़े भाई की भूमिका की भी छानबीन की जा रही है.

इस मामले में को धार्मिक रंग देने को लेकर पीड़िता के परिजन नाराज है. मासूम के परिजनों ने लोगों से अपील की है कि इस मामले को धार्मिक नजरिए से नहीं देखा जाए. पीड़िता के 25 साल के मामा ने कहा है, “मेरी भांजी अभी ठीक से जानती भी नहीं है कि मजहब के मायने क्या हैं. इस घटना को धर्म के नजरिए से देखना ठीक नहीं है. जो भी उसके साथ हुआ, वह निर्मम है और जिसने ये किया, उसे फांसी की सजा होनी चाहिए. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसका धर्म क्या था.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बच्ची के मामा ने आगे बताया कि गुरुवार (26 अप्रैल) को हमने पुलिस मुख्यालय में पुलिस आयुक्त से मुलाकात की. हमने उन्हें बच्ची की बताई हर बात की जानकारी दी. पुलिस आयुक्त ने परिवार को जल्दी जांच पूरी करने का भरोसा दिलवाया है. उन्होंने परिवार को जानकारी दी कि इस मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच करेगा. जबकि बच्ची को गुरुवार (26 अप्रैल) को ही बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया था.

वहीँ मामले की जांच कर रहे क्राइम ब्रांच के संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने बताया, “जांच अधिकारी जल्दी ही पीड़िता से पूरे मामले की जानकारी के लिए मिलेंगे. गुरुवार (26 अप्रैल) को जांच अधिकारियों ने बच्ची से बात करने की कोशिश की थी. लेकिन वह बेहद डरी हुई और सदमे में थी. इस कारण उससे बात नहीं की जा सकी.

Loading...