21delpriyakhafeel

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले साल कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी के कारण बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के मामले में आरोपित डॉक्टर कफील अहमद की पत्नी ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे पति की जेल में हत्या की जा सकती है.

कफील की पत्नी डॉक्टर शबिस्तां खान ने कहा कि जेल में बंद उनके शौहर को पिछली 29 मार्च को दिल का जबरदस्त दौरा पड़ा था मगर उन्हें समुचित इलाज नहीं दिया गया. इसके अलावा गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के पूर्व प्रधानाचार्य और बच्चों की मौत के मामले में गिरफ्तार किए गए डॉक्टर राजीव मिश्रा भी लीवर की बीमारी और शुगर से पीड़ित हैं उन्हें भी समुचित चिकित्सीय सहायता नहीं दी जा रही है. उन्होंने कहा कि मिश्रा की पत्नी डॉक्टर पूर्णिमा शुक्ला की हड्डी टूट गई है, लेकिन उन्हें भी समुचित इलाज नहीं दिया जा रहा है.

कफील की पत्नी ने कहा कि पिछली बीएसपी सरकार के कार्यकाल के दौरान हुए राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन घोटाले में आरोपी एक डॉक्टर की लखनऊ जेल में हत्या कर दी गई थी. गोरखपुर में भी बच्चों की मौत के आरोपित डॉक्टरों का भी यही हश्र होने का खतरा है.

kafeel 1502679277 618x347

शबिस्तां ने कहा कि आठ महीने गुजर जाने के बावजूद हमें अभी तक न्याय नहीं मिला है. जिन लोगों ने मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की आपूर्ति रोकी वह जमानत पा चुके हैं और जिन्होंने इस मुश्किल घड़ी में बच्चों की जान बचाने की कोशिश की वह सलाखों के पीछे बेहद परेशान हाल हैं. गोरखपुर मेडिकल कॉलेज कांड के लिए कुछ बड़े ओहदेदार जिम्मेदार हैं लेकिन उन्हें पकड़े जाने के बजाय अधीनस्थ डॉक्टरों को बलि का बकरा बना दिया गया.

बता दें कि इस मामले में डॉ कफील पहले एक हीरो के रूप में सामने आए थे. जिन्होंने हादसे की रात अपने पैसों से ऑक्सीजन खरीद कर बच्चों की जान बचाई थी. लेकिन उन्हें बाद में गिरफ्तार कर लिया गया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?