kafeel 11 1524944986 618x347

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के ऑक्सिजन कांड मामले में आठ महीने से जेल में बंद डॉ कफील खान को हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद शनिवार शाम जिला जेल से रिहा कर दिया गया.

जेल से बाहर आए डॉ. कफील ने कोर्ट पर भरोसा जताया और कहा कि माननीय उच्च न्यायालय ने स्पष्ट कहा है कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है. पिछले आठ महीने में उनके परिवार ने क्या कुछ सहा है, सबको पता है. उन्होंने कहा, मैंने वही किया जो एक पिता, एक डॉक्टर और एक हिंदुस्तानी करता. मैंने बच्चों को बचाने की कोशिश की थी.

कफील खान ने कहा कि आठ महीने जेल में बिताने के बाद मैं मानसिक रूप से परेशान हूं और शारीरिक तौर पर भी बीमार महसूस कर रहा हूं. मैं अपने घर, अपने परिवार में जाना चाहता हूं. उन्होंने मीडिया से भी अपील की कि उन्हें ऑक्सीजन कांड का आरोपी लिखना बंद करें.

उन्होंने कहा, मुझे नहीं पता मैंने क्या गलत किया जिसकी वजह से मुझे जेल जाना पड़ा. मेरे भविष्य का प्लान सीएम योगी के आदेश पर निर्भर है, अगर वो सस्पेंशन हटा देंगे तो मैं फिर से ज्वॉइन कर लूंगा और लोगों की सेवा करूंगा. जेल की हालत पर बताते हुए उन्होंने कहा, ‘गोरखपुर जेल में 800 की क्षमता है लेकिन वहां रहने वाले कुल लोग लगभग 2000 हैं.

बता दें कि 25 अप्रैल को हाईकोर्ट से डॉ. कफील को जमानत मिल गई थी. आदेश न आने की वजह से उनकी रिहाई नहीं हो पा रही थी. शनिवार को परवाना आने के बाद जेल प्रशासन ने उन्हें रिहा कर दिया. इस मौके पर उनकी पत्नी शबिस्तां भी बेटी जबरीना के साथ जेल पहुंची थीं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें