पश्चिम उत्तर प्रदेश में एक दलित युवक ने मुस्लिम प्रेमिका से शादी करने के लिए पुरे क़ानूनी तरीके से इस्लाम धर्म अपनाया था. लेकिन भगवा संगठनों को दलित का इस्लाम धर्म अपनाना नागवार गुजरा और उन्होंने युवक को फिर से हिन्दू बनने पर मजबूर कर दिया.

शामली निवासी इस युवक ने इस्लाम धर्म अपनाने के बाद मुजफ्फरनगर कोर्ट में धर्मपरिवर्तन का पंजीकरण भी कराया था. जिसकी खबर भगवा संगठनों को लग गई और उन्होंने उत्पात मचाना शुरू कर दिया.

भगवा संगठनों के कार्यकर्ता दलित युवक के घर पहुंचे और उस पर दबाव डाला कि वह फिर से हिन्दू बने. जिसके बाद दलित युवक ने इस्लाम त्यागकर फिर से हिंदू धर्म अपना लिया.उसने दाढ़ी मुंडाकर तिलक लगा लिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि दलित युवक के साथ पहले भी बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने इस्लाम धर्म अपनाने को लेकर मारपीट भी की थी. बता दें कि ‘घर वापसी’ अभियान को लेकर पश्चिम उत्तर प्रदेश में पहले भी कई बार विवाद हो चुका है.

घर वापसी को लेकर इलाके में इस हद तक तनाव बढ़ा कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाबलों को भी तैनात करना पड़ा था. हालांकि, यह मामला बिना किसी ज्यादा बवाल के निपट गया.

Loading...