almaas khan

माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) द्वारा रविवार को हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम घोषित किये गए. यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम के टॉप टेन में केवल ही मुस्लिम विद्यार्थी ने जगह बनाई है.

जनपद सिद्धार्थ नगर के अकरहरा गांव की साधारण परिवार में पली-बढ़ी अलमास खान ने उत्तर प्रदेश के टॉप 10 की सूची में छठा स्थान हासिल किया है. उन्होंने 600 में से 562 अंक प्राप्त किये है.

16 वर्षीय अलमास उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पब्लिक कालेज की छात्रा हैं. अलमास ने लखनऊ में पहली रैंक हासिल की है. अलमास के पिता जफर आलम खां बलरामपुर के उतरौला स्थित मोहम्मद यूसुफ उस्मानी इंटर कॉलेज में उर्दू के अध्यापक हैं जबकि अलमास अपनी मां के साथ उच्च शिक्षा के लिए लखनऊ में रहती हैं.

Image result for up board

न्यूज 18 से फोन पर बात करते हुए अलमास कहती हैं, एक तरफ मेरे पिता ने मुझे अच्छी शिक्षा के लिए तैयार किया तो वहीं मेरी मां ने शिक्षा के लिए बहुत कुर्बानी दी है. मैं अपने माता-पिता के योगदान को कभी नहीं भूल सकती हूं.

अलमास इस सफलता के बाद इंजीनियर बनना चाहती हैं, लेकिन उनके पिता की इच्छा है कि वह सिविल सर्विसेस में जाएं या फिर पीएचडी करें. अलमास के पिता जफर आलम खान ने कहा कि आज मेरी बेटी की सफलता ने यह साबित कर दिया है कि अगर आप कोई लक्ष्य लेकर चलते हैं, तो उसे हासिल करना नामुमकिन नहीं है.

उन्होंने कहा, आज जहां पूरे क्षेत्र में शिक्षा का अभाव है वहां जनपद का नाम रोशन करके अलमास ने छात्रों के लिए मिसाल कायम किया है. हम यह भी उम्मीद करते हैं कि अब हमारा क्षेत्र भी शैक्षिक मामलों में आगे बढ़ेगा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें